सिंधु घाटी की सभ्यता

0
(0)

सिंधु घाटी की सभ्यता:-आज के इस पोस्ट मे आपके लिए एक ऐसी जानकारी लेकर आये हैं जो बहुत ही महत्वपूर्ण हैं इस पोस्ट मे हम सिंधु घाटी की सभ्यता क्या थी ओर उसके महत्वपूर्ण तथ्य लेकर आए हैं अगर आप UPTET CTET SSC RAILWAYS UPSC UPPSC MPPSC BIHAR POLICE UP POLICE आदि के एक्जाम की तैयारी कर रहे हैं तो ये प्रश्न आपके लिए बहुत ही महत्वपूर्ण हैं।

सिंधु घाटी सभ्यता के चरण

सिंधु घाटी सभ्यता के तीन चरण हैं

  1. प्रारंभिक हड़प्पाई सभ्यता (3300ई.पू.-2600ई.पू. तक)
  2. परिपक्व हड़प्पाई सभ्यता (2600ई.पू-1900ई.पू. तक)
  3. उत्तर हड़प्पाई सभ्यता (1900ई.पु.-1300ई.पू. तक)

सिंधु घाटी की सभ्यता क्या थी ?

सिंधु घाटी सभ्यता (3300-1700 ई.पू.) विश्व की प्राचीन नदी घाटी सभ्यताओं में से एक प्रमुख सभ्यता थी. यह हड़प्पा सभ्यता और सिंधु-सरस्वती सभ्यता के नाम से भी जानी जाती है. इसका विकास सिंधु और घघ्घर/हकड़ा (प्राचीन सरस्वती) के किनारे हुआ. मोहनजोदड़ो, कालीबंगा, लोथल, धोलावीरा, राखीगढ़ी और हड़प्पा इसके प्रमुख केंद्र थे.सिन्धु घाटी सभ्यता (3300 ईसापूर्व से 1700 ईसापूर्व तक, परिपक्व काल: 2550 ई.पू. से 1750 ई.पू.)विश्व की प्राचीन नदी घाटी सभ्यताओं में से एक प्रमुख सभ्यता है। जो मुख्य रूप से दक्षिण एशिया के उत्तर-पश्चिमी क्षेत्रों में, जो आज तक उत्तर पूर्व अफगानिस्तान ,पाकिस्तान के उत्तर-पश्चिम और उत्तर भारत में फैली है। प्राचीन मिस्र और मेसोपोटामिया की प्राचीन सभ्यता के साथ, यह प्राचीन दुनिया की सभ्यताओं के तीन शुरुआती कालक्रमों में से एक थी, और इन तीन में से, सबसे व्यापक तथा सबसे चर्चित। सम्मानित पत्रिका नेचर में प्रकाशित शोध के अनुसार यह सभ्यता कम से कम 8000 वर्ष पुरानी है। यह हड़प्पा सभ्यता और सिंधु-सरस्वती सभ्यता के नाम से भी जानी जाती है।

सिंधु घाटी सभ्यता के महत्वपूर्ण प्रश्न

● इतिहास का पिता किसे समझा जाता है— हेरोडोटस
● जिस काल में मानव की घटनाओं का कोई लिखित वर्णन नहीं होता, उस काल को क्या कहा जाता है— प्रागैतिहासिक काल
● मानव जीवन की घटनाओं का लिखित वर्णन क्या कहलाता है— इतिहास
● आग का अविष्कार किस युग में हुआ— पुरापाषण युग में
● पुरापाषण युग में मानव की जीविका का मुख्य आधार क्या था— शिकार करना
● पहिए का अविष्कार किस युग में हुआ— नवपाषण युग में
● हड़प्पा सभ्यता का प्रचलित नाम कौन-सा है— सिंधु घाटी की सभ्यता
● सिंधु की सभ्यता का काल क्या माना जाता है— 2500 ई. पू. से 1750 ई.पू.
● सिंधु की घाटी सभ्यता में सर्वप्रथम घोड़े के अवशेष कहाँ मिले— सुरकोटदा
● सिंधु की घाटी सभ्यता के लोगों का मुख्य व्यवसाय क्या था— व्यापार
● हड़प्पा की सभ्यता किस युग की सभ्यता थी— कांस्य युग
● सिंधु की घाटी सभ्यता में घर किससे बने थे— ईंटों से
● हड़प्पा के लोग कौन-सी फसल में सबसे आगे थे— कपास
● हड़प्पा की सभ्यता की खोज सर्वप्रथम किसने की— दयाराम साहनी
● सिंधु सभ्यता का प्रमुख बंदरगाह कौन-सा था— लोथल (गुजरात)
● सिंधु की घाटी सभ्यता का स्थल ‘कालीबंगा’ किस प्रदेश में है— राजस्थान में
● हड़प्पा की सभ्यता की खोज किस वर्ष हुई थी— 1921 ई.
● हड़प्पा के लोगों की सामाजिक पद्धति कैसी थी— उचित समतावादी
● नखलिस्तान सिंधु सभ्यता के किस स्थल को कहा गया है— मोहनजोदड़ो
● हड़प्पा की सभ्यता में हल से खेत जोतने का साक्ष्य कहाँ मिला— कालीबंगा
● सैंधव सभ्यता की ईंटों का अलंकरण किस स्थान से प्राप्त हुआ— कालीबंगा
● सिंधु की सभ्यता में एक बड़ा स्नानघर कहाँ मिला— मोहनजोदड़ो में
● सिंधु सभ्यता की मुद्रा पर किस देवता का चित्र अंकित था— आघशिव
● मोहनजोदड़ो को एक अन्य किस नाम से जाना जाता है— मृतकों का टीला
● सैंधव स्थलों के उत्खन्न से प्राप्त मोहरों पर किस पशु का प्रकीर्णन सर्वाधिक हुआ— बैल
● सिन्धु सभ्यता का कौन-सा स्थान भारत में स्थित है— लोथल
● भारत में खोजा गया सबसे पहला पुराना शहर कौन-सा था— हड़प्पा
● भारत में चाँदी की उपलब्धता के साक्ष्य कहाँ मिले— हड़प्पा की संस्कृति में
● मांडा किस नदी पर स्थित था— चिनाब पर
● हड़प्पा की सभ्यता का प्रमुख स्थल रोपड़ किस नदी पर स्थित था— सतलज नदी
● हड़प्पा में एक अच्छा जलप्रबंधन का पता किस स्थान से चलता है— धोलावीरा से
● सिंधु सभ्यता के लोग मिट्टी के बर्तनों पर किस रंग का प्रयोग करते थे— लाल रंग
● सिंधु घाटी की सभ्यता किस युग में थी— आद्य-ऐतिहासिक युग में
● सिंधु घाटी का सभ्यता की खोज में जिन दो भारतीय लोगों के नाम जुड़े हैं, वे कौन हैं— दयाराम साहनी और आर.डी. बनर्जी
● सिंधु घाटी सभ्यता की प्रमुख फसल कौन-सी थी— जौ एवं गेहूँ
● हड़प्पा की समकालीन सभ्यता रंगपुर कहाँ है— सौराष्ट्र में
● हड़प्पा और मोहनजोदड़ो की खुदाई किसने कराई— सर जॉन मार्शल
● सिंधु सभ्यता के लोग सबसे अधिक किस देवता में विश्वास रखते थे— मातृशक्ति
● हड़प्पा की सभ्यता में मोहरे किससे बनी थी— सेलखड़ी से
● किस स्थान से नृत्य मुद्रा वाली स्त्री की कांस्य मूर्ति प्राप्त हुई— मोहनजोदड़ो से
● मोहनजोदड़ो इस समय कहाँ स्थित है— सिंध, पाकिस्तान
● हड़प्पावासियों ने सर्वप्रथम किस धातु का प्रयोग किया— ताँबे का
● स्वतंत्रता के बाद भारत में हड़प्पा के युग के स्थानों की खोज सबसे अधिक किस राज्य में हुई—गुजरात
● हड़प्पा के निवासी किस धातु से परिचित नहीं थे— लोह से
● हड़प्पा की सभ्यता किस युग की सभ्यता थी— ताम्रयुग
● हड़प्पा का प्रमुख नगर कालीबंगन किस राज्य में है— राजस्थान में
● हड़प्पा के निवासी किस खेल में रूचि रखते थे— शतरंज
● हड़प्पा के किस नगर को ‘सिंध का बाग’ कहा जाता था— मोहनजोदड़ो को
● मोहनजोदड़ो का शाब्दिक अर्थ क्या है— मृतकों का टीला
● हड़प्पा के निवासी घरों एवं नगरों के विन्यास के लिए किस पद्धति को अपनाते थे— ग्रीड पद्धति को

हम उम्मीद करते है, कि आप सभी ने हमारे लिखी हुई पोस्ट पूरे ध्यान से और पूरी पढ़ी होगी, अगर नहीं पढ़ी हो तो एक बार पहले पोस्ट पढ़ें, और अगर फिर आपको कहीं लगे कि इस जगह की यह जाति इस लेख में नहीं बताई गई है या कोई जाति गलत बताई गई है तो कृपया कमेंट के माध्यम से हमें बताएं धन्यवाद।

इन्हे भी पढे:

आप हमारा Facebook Page Essay Spot  फॉलो कर सकते है । दोस्तो अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो इस Facebook,Whatsapp,Telegram पर Share अवश्य करें ।

अगर आपको इसी से सम्बन्धित और भी कुछ जानकारी या अन्य कोई भी जानकारी चाहिए तो नीचे दिए गए Comment Box के माध्यम से सूचना दें सकते हैं। हम आपकी मदद जरुर करेगे। और आपके लिए उस जानकारी को जरुर लेकर आएगे।

हम रोजाना प्रतियोगी परीक्षाओ से सम्बन्धित जानकारी को लेकर आते हैं। तो अगर आप भी किसी प्रतियोगी परीक्षाए जैसे SSC, Bank, Railway, NDA, IBPS, Airforce, Army,UPSC,State Competitive Exams etc. नोकरियो की तैयारी करते है। तो हमारे ESSAY SPOT के साथ जरुर जुडे यह तैयारी करने वाले छात्र छात्राओ के लिए बेहतरीन प्लेटफार्म है। तो लेख पढने के लिए धन्यवाद।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

Leave a Comment

%d bloggers like this: